WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

7 फ़रवरी, 2021

जंगली घोड़ा और गदहा

127 Views
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

एक समय में, जंगली घोड़े विशाल पश्चिमी अमेरिकी क्षेत्र के प्रतीक थे। जंगली घोड़ा कठोर और उग्र है, इसलिए जब कोई उस पर सवार होता है या उस पर सामान रखता है तो वह ऊपर-नीचे कूदने लगता है। इसलिए, लोगों को जंगली घोड़े का उपयोग करने के लिए उसे वश में करना पड़ता है। जंगली घोड़े को वश में करने के लिए, काउबॉय जंगली घोड़े पर सवार होते थे और उसे अपने अधीन करते थे, जिससे आजकल रदेऊ खेल(एक खेल जिसमें लोग जंगली घोड़े या गाय पर सवार होकर उसे अपने वश में करते हैं) उत्पन्न हुआ है।

जंगली घोड़े को अपने वश में करने का दूसरा तरीका उसे एक गदहे के साथ बांध देना है। यदि दोनों को एक साथ बांधकर चरागाह में छोड़ दिया जाए, तो शुरुआत में कमजोर गदहा इधर­उधर भागते रहे जंगली घोड़े के साथ घसीटा जाएगा, लेकिन, कुछ दिनों के बाद जंगली घोड़ा, जो अपनी मरजी से चलना पसंद करता है, शांति से गदहे का पालन करने लगता है। आखिरकार घोड़ा यह जान लेता है कि चाहे वह गदहे से अलग होने के लिए कितना भी प्रयास करे, वह बेकार है, और वह गदहे के सामने हार जाता है।

एक व्यक्ति जिसके पास एक कठोर व्यक्तित्व होता है उसकी तुलना अक्सर जंगली घोड़े से की जाती है। सभी के पास कोई न कोई कठोर व्यक्तित्व होता है। हमें अपने अंदर के जंगली घोड़े के साथ में एक गदहे को रखना चाहिए। हमारे मनों में गदहा, जो हमें नम्र बनने के लिए वश में करता है, वह धीरज है।

FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS