स्वयंसेवा कार्य

चर्च ऑफ गॉड कीमती जीवन को बचाते हुए और एक साथ कठिनाइयों पर काबू पाते हुए दुनिया की शांति और खुशी को बढ़ावा देता है।

माता के प्रेम में हर कोई खुश हो जाता है

परमेश्वर द्वारा सृजी गई पृथ्वी मानव जाति का घर है। हर कोई एक परिवार की तरह है। लेकिन, दुनिया भर में बड़ी संख्या में लोग युद्ध, अकाल, विपत्तियों और बीमारियों से पीड़ित हैं। अप्रत्याशित सामाजिक, आर्थिक या पर्यावरणीय आपदाएं जीवन, शिक्षा, चिकित्सा उपचार और स्वस्थ पर्यावरण जैसे बुनियादी मानव अधिकारों को छीन लेती हैं, और मानव जाति के अस्तित्व को खतरे में डालती हैं। चर्च ऑफ गॉड का उद्देश्य माता की बांहों जैसी शांति और खुशी की दुनिया बनाना है जहां हर कोई आरामदायक महसूस करता है।

माता का प्रेम
जीवन बचाना
मानवाधिकार संरक्षण
मानव जाति का सामंजस्य
पर्यावरण संरक्षण
विश्व शांति

व्यावहारिक विचारधारा

माता का प्रेम खुशी का स्रोत है

जिसकी वैश्विक गांव को आवश्यकता है वह माता का प्रेम है। जिस तरह परिवार में माता का प्रेम, देखभाल, और बलिदान परिवार की शांति और सामंजस्य ले आता है, वैसे ही जब आपदाओं और संघर्षों से भरी दुनिया माता के प्रेम से भर जाती है, तब मानव जाति शांति और खुशी पा सकती है।

जब लोग बदलते हैं,
तब दुनिया बदल जाती है

प्रत्येक व्यक्ति मानव समाज की सबसे छोटी इकाई है। जब कोई व्यक्ति बदल जाए, तो उसका परिवार बदल जाएगा; उसका समुदाय, शहर और देश बदल जाएगा; और तब दुनिया बदल जाएगी। एक माता के प्रेम के साथ, जो परिवार में केंद्रीय व्यक्ति है, हम प्रत्येक व्यक्ति को एक सुखद बदलाव प्रदान करते हैं, ताकि जिनके जीवन में बदलाव आया है, वे एक साथ दुनिया को खुश कर सकें।

चर्च ऑफ गॉड
SDGs की
उपलब्धि का साथ देता है

सतत विकास लक्ष्य(SDGs) का अंतिम उद्देश्य मानव जाति के लिए शांति और खुशी लाना है। चर्च ऑफ गॉड अंतरराष्ट्रीय संगठनों, सरकारों और कई देशों के संस्थानों, जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों और समुदायों के साथ SDGs को हासिल करने के लिए समर्थन करता है।

SDGs(Sustainable Development Goals, सतत विकास लक्ष्य)

मानवजाति के सतत विकास के लिए 2015 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा अपनाई गई एक कार्यसूची और अंतरराष्ट्रीय समुदाय का एक सार्वजनिक लक्ष्य है। इसमें 17 लक्ष्य, 169 विशेष लक्ष्य और 230 सूचियां शामिल हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय गरीबी, बीमारी, शिक्षा, पर्यावरण गिरावट, आर्थिक और सामाजिक समस्या जैसे मानवजाति की सामान्य समस्याओं को हल करने के लिए वर्ष 2030 तक SDGs लागू करने पर सहमत हुआ है।

चर्च ऑफ गॉड द्वारा संयुक्त राष्ट्र SDGs को लागू किया गया

चर्च ऑफ गॉड की सामाजिक सेवाएं SDGs के अनुरूप हैं।

विश्व शांति आपातकालीन राहत कार्य आपदा राहत और मरम्मत का प्रयास, राहत कोष और आपूर्ति का दान, मुफ्त भोजन सेवाएं, आपदा तैयारियों पर शिक्षा
गरीबी उन्मूलन और भूख की समाप्ति गरीबों के लिए खाद्य पदार्थ और दैनिक आवश्यकताओं का दान, धन का दान
शुद्ध जल की उपलब्धता और स्वच्छता पानी की कमी से पीड़ित क्षेत्रों में पानी पंप प्रदान करना, स्वच्छता में सुधार
बेहतर स्वास्थ्य और कल्याण रक्तदान ड्राइव, चिकित्सा सहायता, स्वास्थ्य परामर्श, रोग की रोकथाम
कल्याणकारी प्रोत्साहन बुजुर्ग नागरिकों के लिए सांत्वनादायक पार्टी, मुफ्त हेयर स्टाइलिंग सेवा, वरिष्ठों और बहुसांस्कृतिक परिवारों के लिए समर्थन, पड़ोसियों के लिए प्रदर्शनियां, आर्केस्ट्रा संगीत कार्यक्रम, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय कार्यक्रमों के लिए समर्थन, सार्वजनिक व्यवस्था अभियान, किसानों, मछुआरों और पशुपालक किसानों के लिए सहायता
गुणवत्तापूर्ण शिक्षा आपदा प्रभावित स्कूल इमारतों का पुनर्निर्माण, शैक्षिक सुविधाओं और आपूर्ति का दान, स्कूल में पर्यावरण सुधार, स्कूल फीस के लिए सहायता, चरित्र निर्माण शिक्षण
पर्यावरण संरक्षण स्थानीय पर्यावरण सुधार, पारिस्थितिक तंत्र संरक्षण, जलवायु परिवर्तन प्रतिवाद, पर्यावरण संरक्षण अभियान
अपराध निवारण वैश्विक अपराध निवारण आंदोलन
साझेदारी SDGs के कार्यान्वयन के लिए अंतरराष्ट्रीय फोरम, समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर, मीटिंग, प्रस्ताव पर हस्ताक्षर अभियान

दुनिया भर में स्वयंसेवा

चर्च ऑफ गॉड पर्यावरण की रक्षा करता है और जरूरत में पड़े पड़ोसियों को साहस और आशा प्रदान करते हुए स्वयं सेवा कार्य करता है;
केवल चर्च ऑफ गॉड के सदस्य ही नहीं, बल्कि उनके परिवार, पड़ोसी, दोस्त और सभी क्षेत्रों के लोग भी प्रयासों में भाग लेते हैं।

102
देश
15,866
बार
2,331,058
प्रतिभागी
(नवंबर, 2017 तक )

गतिविधियों की उपलब्धि

दुनिया में सतत शांति के लिए नींव डालना

  • अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रमों की सफलता का समर्थन करना
  • सांस्कृतिक आदान-प्रदान का विस्तार करना
  • अंतरराष्ट्रीय मुद्दों को हल करने और संचार में सुधार करने के लिए सहयोग करना

SDGs के कार्यान्वयन के लिए समर्थन

  • गरीबी और अकाल उन्मूलन, बीमारी की रोकथाम और उपचार, आपदा पीड़ितों और कमजोर सामाजिक समूहों के मानव अधिकारों की सुरक्षा, बच्चे और युवा शिक्षा के लिए समर्थन
  • जलवायु परिवर्तन प्रतिवाद, पर्यावरण, स्वच्छता और पेयजल की गुणवत्ता में सुधार, पारिस्थितिक तंत्र संरक्षण, मरुस्थलीकरण का मुकाबला

समुदायों और देशों के विकास के लिए सहायता

  • सुमदाय विकास और पर्यावरण सुधार
  • समुदाय की समस्याओं को सुलझाना
  • निवासियों का सामंजस्य और सार्वजनिक-निजी सहयोग

पारिवारिक सुख और पड़ोसी सौहार्द को बढ़ावा देना

  • स्वयंसेवा कार्यों में परिवार और पड़ोसियों की भागीदारी का विस्तार करना
  • पारिवारिक कार्यक्रमों और सांस्कृतिक गतिविधियों को साझा करना
  • पड़ोसी समझ को बढ़ावा देना

बच्चों और युवाओं का चरित्र निर्माण

  • आत्मसम्मान में सुधार, पारिवारिक प्रेम को बढ़ावा देना
  • ज्ञान का विस्तार, परोपकारिता विकसित करना
  • साथियों और पीढ़ियों के बीच संचार में सुधार
  • सामाजिकता का संवर्धन करना

नागरिक चेतना का विकास

  • स्वयंसेवा कार्यों में भाग लेने के लिए सभी क्षेत्रों के लोगों को प्रेरित करना
  • दूसरों के प्रति विचारशीलता को प्रोत्साहित करना
  • पर्यावरण जागरूकता बढ़ाना
  • वैश्विक समुदाय की भावना को बढ़ावा देना