WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

बड़ी बहन की प्रेम की स्वीकारोक्ति

चांगवन, कोरिया से हान यू मी

296 देखे जाने की संख्या
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

जब मैं प्राथमिक स्कूल की दूसरी कक्षा में थी, सर्दियों की छुट्टियों के दौरान चंद्र नव वर्ष की छुट्टियां थीं। मेरी बुआ जो पहले हमारे पास में ही रहती थी और दूर शहर में चली गई, हमारे घर में आई। लंबे समय के बाद उसके परिवार से मिलकर हम सब मुस्कुरा रहे थे। वापस लौटने से पहले, मेरी बुआ को इस बात का खेद हुआ कि वह मुझे और मेरी बहन को अपने घर में ले जाकर यहां वहां दिखाना और कुछ स्वादिष्ट भोजन खिलाना चाहती थी। मैं अपनी बुआ को पसंद करती थी और उसके साथ जाना चाहती थी, लेकिन स्कूल शुरू होने वाला था और गाड़ी में सवार होने पर मुझे अक्सर चक्कर आता था, इसलिए मेरे माता-पिता ने मुझे रोक दिया। आखिरकार, मेरी बुआ ने मेरी सात साल की बहन को ही ले गई।

उस दिन, मुझे थोड़ा अकेलापन महसूस हुआ, लेकिन यह अच्छा लगा कि मुझे अपनी छोटी बहन के साथ खेलने की जरूरत नहीं थी। एक दिन, दो दिन, एक सप्ताह और एक महीना बीत गया जब से वह चली गई थी। मौसम बदलने के बाद भी वह वापस नहीं आई। मुझे उसकी याद आई। एक दिन, मुझे उसकी बहुत याद आ रही थी कि मैं अपना होमवर्क किए बिना सिर्फ इस कमरे से उस कमरे तक आती-जाती रही। फिर मैंने अपने माता-पिता के कमरे में फोन उठाया। मैं अपनी छोटी बहन को फोन करना चाहती थी लेकिन मुझे अपनी बुआ का फोन नंबर नहीं पता था। मैंने सिर्फ फोन उठाकर बात की।

“मुझे तुम्हारी याद आती है! जल्दी घर लौट आओ।”

फिर, फोन बज उठा। वह मेरे पिता थे। उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं किससे इतने लंबे समय बात कर रही थी। मुझे नहीं पता था कि मैं इतने लंबे समय तक फोन पकड़ रही थी। मुझे लगा कि पिता ने वह बात सुनी होगी जो मैंने फोन पर अपनी बहन से कही थी, इसलिए शर्मिंदा होने से मेरा चेहरा लाल हो गया था।

कुछ दिनों बाद, मेरी बहन आखिरकार घर वापस आ गई। उसने अपने बालों को पर्म करवाया था और सियोल उच्चारण में बात की। मैं उसे फिर से देखकर खुश थी, लेकिन यह थोड़ा अजीब था। हालांकि, जल्द ही, हम पहले से अधिक करीब हो गईं। उसके साथ खेलना अब कष्टप्रद नहीं था।

तीस साल के बाद भी मैंने अपनी बहन को कभी नहीं बताया कि जब वह अपनी बुआ के घर गई थी, मुझे अकेलापन महसूस हुआ था और उसकी बहुत याद आई थी। जब मैं अपनी बहन को अगली बार देखूंगी, तो मैं उसे मुस्कान के साथ इसके बारे में बताना चाहती हूं। अब इस कुंठित बड़ी बहन के लिए अपनी छोटी बहन के प्रति प्रेम व्यक्त करने का समय आ गया है।