WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

मेरा पहला वेतन

सियॉन्गनाम, कोरिया से किम सन वू

334 देखे जाने की संख्या
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

मेरे फोन के वाइब्रेट होने पर मैंने टेकस्ट मेसेज को देखा। मेरे बैंक खाते में वेतन को जमा किया गया था। मैं बहुत खुश हुआ क्योंकि वह मेरे जीवन में पहला वेतन था।

‘क्या सच में मेरे बैंक खाते में पैसे आए हैं? कैसे मैं इसका उपयोग करूं?’

मैंने उत्तेजना में बैंक जाने के मार्ग पर बहुत सी चीजों के बारे में सोचा।

‘यह मेरा पहला वेतन है। मैं अपनी मां को यह दूंगा। उसने मेरे लिए आज तक बलिदान किया है।’

मैंने इसकी निकासी करके अपनी मां को दे दिया। मुझे लगा कि वह बहुत खुश होगी, लेकिन वह काफी समय तक केवल उस लिफाफे को देख रही थी।

“मुझे माफ कर दो। तुम्हारे लिए कुछ भी न करने के लिए मुझे खेद है।”

मैं उलझन में पड़ा क्योंकि मेरी मां की प्रतिक्रिया मेरी अपेक्षा के विपरीत थी। मैं समझ नहीं सका कि क्यों उसने माफी मांगी।

“मैं तुम पर गर्व महसूस करती हूं। यह सोचकर मुझे दुख भी होता है कि अब से तुम्हें एक वयस्क के रूप में जिम्मेदारी के साथ जीवन जीना होगा। और मैं बेहद खुश हूं कि तुमने मेरे बारे में सोचा। तुम्हारे पहले वेतन का तुम स्वयं के लिए इस्तेमाल करो।”

उसने मुझे लिफाफा वापस कर दिया। लेकिन मैंने उसे उसके हाथ में जबरदस्ती थमा दिया।

कुछ दिनों के बाद, मैं काम से थका-हारा घर लौट आया। आश्चर्यजनक रूप से मेरे कमरे में एक सूट था। मेरी मां ने कहा कि उसने उसे मेरे लिए खरीदा है। मेरा पहला वेतन जो मैंने उसे दिया था मेरे पास लौट आया।

तब मुझे एहसास हुआ कि मेरी मां ने क्यों माफी मांगी थी। वह मां का दिल था; भले ही वह मुझे देती रहती थी, वह मुझे और अधिक न दे पाने के लिए खेदित थी। मुझे स्वयं पर शर्मिंदगी महसूस हुई कि मुझे उसे केवल एक बार वेतन देकर गर्व महसूस हुआ था। मुझे उसके प्रति खेद महसूस हुआ।

माता का प्रेम जो अपने बच्चे को जन्म देकर उसकी देखभाल करती है, असीम है। मैंने इस बहाने से कि मैं थका हुआ हूं और कठिन समय से गुजर रहा हूं, जो बोझ मुझे स्वयं पर लादना था उन पर लाद दिया है। मेरे लिए उसके प्रेम का कर्ज चुकाने का कोई रास्ता नहीं है।