WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

बहुमूल्य जीवन, बहुमूल्य सुसमाचार

शिकागो, आईएल, अमेरिका से जॉइ पडुआ

413 देखे जाने की संख्या
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

मैं एक मॉल में प्रचार करते हुए, एक महिला से मिली जिसने अभी अभी परमेश्वर पर विश्वास करना शुरू कर दिया। जब एक सदस्य और मैंने उससे पूछा कि क्या हम उसे माता परमेश्वर के बारे में दिखा सकते हैं जिनके बारे में बाइबल गवाही देती है, तो उसने कहा, “बेशक! वास्तव में, मैंने अभी अभी एक बाइबल खरीदी है!” उसने अपने शॉपिंग बैग से सुंदर हार्डकवर बाइबल निकाली और मुझे सौंप दी। हमने उसे बाइबल के द्वारा स्वर्गीय पिता और माता जो इस युग के उद्धारकर्ता हैं और परमेश्वर के नियमों के बारे में दिखाया।

लंबे समय तक, उसने परमेश्वर के वचन को ध्यान से सुना। वह परमेश्वर का ईमानदार संदेश सुनकर बहुत अचम्भित हो गई जिसमें सत्य और अनन्त जीवन निहित हैं। वह और अधिक ध्यान केंद्रित करने के लिए करीब झुक गई।

जब हम उसे प्रचार करना समाप्त करने ही वाले थे, हमने उससे पूछा, “क्या आप नया जीवन पाना चाहते हैं?” उसने तुरन्त जवाब दिया, “हां,” और उसने बताया कि यह कितना अद्भुत था कि उस दिन हमने उसे रोक दिया। उसने आंसू भरी आंखों से हमारी ओर देखा और कहा, “कल, मैं कीमोथेरेपी उपचार शुरू करती हूं।” वह अग्नाशय के कैंसर से पीड़ित थी। उसने अपना उपचार पूरा करने के बाद हमसे संपर्क करने का वादा किया। हमने उसे सांत्वना देने के लिए गले लगाया और अलग हुए। मैं उसे अच्छे स्वास्थ्य में फिर मिलने के लिए बहुत उत्सुक थी और कामना की कि वह नए जीवन की आशीष प्राप्त करे।

उस दिन, मेरे मन में बहुत सारे विचार घुमने लगे। पहले, मैं समझ सकती थी कि उसने क्यों परमेश्वर को खोजना शुरू किया और क्यों उद्धार के संदेश को ध्यान से सुना। यह इसलिए था क्योंकि अपनी बीमारी से लड़ते हुए, उसने जीवन के मूल्य को महसूस किया। और साथ ही, मुझे एहसास हुआ कि पिता और माता ने हमसे बहुत से लोगों को नई वाचा के सुसमाचार का प्रचार करने के लिए क्यों कहा। सुसमाचार वह दवा है जिसमें अनन्त जीवन की प्रतिज्ञा है। हमारे पास सुसमाचार का प्रचार करने के द्वारा आत्माओं को बचाने का मिशन है।

उस आत्मा को देखकर जिससे मैं उस दिन मिली थी, मैं चिंतित थी। स्वर्गीय माता के मन में कितना अधिक दर्द हुआ होगा? मुझे एक बार फिर एहसास हुआ कि स्वर्गीय माता अपनी प्यारी संतानों को ढूंढ़ने और उन्हें वापस स्वर्ग में ले जाने के लिए आईं जहां कोई मृत्यु और पीड़ा नहीं है। अब से, मैं माता के मन के साथ खुद को सुसमाचार के कार्य के लिए समर्पित करूंगी। मैं बहुत सी आत्माओं की परमेश्वर की ओर अगुवाई करके पिता और माता को अनन्त जीवन की आशीष का बदला चुकाना चाहती हूं।