WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

मां ने कहा, “मैं एक मां बनकर खुश हूं!”

सियोल, कोरिया

463 देखे जाने की संख्या

अपने कॉलेज से स्नातक होने के एक दिन पहले, मैंने यह पता करना शुरू किया कि स्नातक के लिए क्या क्या आवश्यक है जैसे कि समारोह कहां आयोजित किया जाएगा और मुझे कितने बजे तक वहां जाना चाहिए। सही समय पर, मां ने मुझसे स्नातक की टोपी के बारे में पूछा। मैंने सोचा था कि यदि मैं स्नातक समारोह में भाग लूं, तो मुझे स्नातक की टोपी दी जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं था।

“मेरे स्नातक होने के समय में, विभाग कार्यालय ने मुझे स्नातक की टोपी को उधार दिया था,” मेरी मां ने कहा।

जब मैंने कॉलेज की वेबसाइट पर यहां-वहां खोजा, तो मैंने पाया कि मां सही थी। यदि उसने मुझे इसके बारे में नहीं बताई होगी, तो उस दिन मैं इधर-उधर आती-जाती रही होगी।

स्नातक के दिन, मैंने स्नातक की टोपी लगाई जो मुझे विभाग कार्यालय से मिली, और अपने दोस्तों के साथ तस्वीरें लीं। अचानक, मेरी मां जो मेरी तस्वीरें खींच रही थी, मेरी दृष्टि में आई। मैंने स्नातक की टोपी और गाउन उतार दिया, और अपनी मां को वे पहने दिए। मां को कपड़ों को अच्छी तरह से पहनते हुए देखकर, मैंने उसके स्कूल के दिनों के बारे में जानना चाहा। जब मैं घर वापस आई, मैंने एल्बम निकाला और मां की कॉलेज स्नातक तस्वीरें देखीं। मैंने मां की स्नातक तस्वीर और आज खींची गई उसकी तस्वीर दोनों को बारी-बारी से देखा और मेरा गला भर आया।

मां हमेशा मेरे लिए मां थी। जब से मैं पैदा हुई, वह मेरे लिए सिर्फ मां थी। इसलिए मैंने उन दिनों के बारे में कल्पना भी नहीं की थी जब मां, मां नहीं थी। मां के पास अपने स्कूल के दिन भी थे और वह समय भी था जब वह फूल जैसी खिली हुई कुंवारी थी। मैंने मां को उसके युवा दिनों की तस्वीरें दिखाते हुए पूछा कि क्या वह उन दिनों में लौटना चाहती है। मां ने कहा नहीं। फिर, मैंने मां से पूछा कि वह किन दिनों में वापस जाना चाहती है। मां ने कहा कि वह किसी अन्य दिनों में नहीं लौटना चाहती।

“मेरे कॉलेज के दिन और मेरे काम करने के दिन भी अच्छे थे। लेकिन उन दिनों में न तो तुम और न ही तुम्हारा भाई थे। इसलिए, मैं उन दिनों में वापस नहीं जाना चाहती।”

मां ने कहा कि जब वह मां है तब वह सबसे खुश है। किशोरावस्था के दौरान, मैं उसे चोट पहुंचाती थी और रुलाती थी। उसके बावजूद, मां ने कहा कि वह एक मां बनकर खुश है। मैं उसके प्रति आभारी और खेदित हूं। अब, मैं उसे बताना चाहती हूं।

“मां, मैं भी आपकी बेटी बनकर बहुत खुश हूं।”