WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

18 दिसम्बर, 2019

हमें किस प्रकार के शब्द बोलने चाहिए? (1)

FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

शब्द हमारे व्यक्तित्व को प्रतिबिंबित करते हैं। यह इसलिए क्योंकि शब्दों में हमारे विचार और भावनाएं शामिल होते हैं। इसलिए, परमेश्वर की संतानों के रूप में, जिन्होंने उद्धार की प्रतिज्ञा प्राप्त की हैं, हमें अनुग्रहपूर्ण शब्दों और धन्यवाद भरे शब्दों के साथ परमेश्वर को महिमा देनी चाहिए।

अब से, हम बाइबल के द्वारा देखेंगे कि परमेश्वर क्या चाहते हैं कि हम किस प्रकार के शब्दों का उपयोग करें।

1. हमें बैरभाव को दूर फेंकना चाहिए और अच्छे शब्द बोलने चाहिए

कोई गन्दी बात तुम्हारे मुंह से न निकले, पर आवश्यकता के अनुसार वही निकले जो उन्नति के लिये उत्तम हो, ताकि उससे सुननेवालों पर अनुग्रह हो। परमेश्वर के पवित्र आत्मा को शोकित मत करो, जिस से तुम पर छुटकारे के दिन के लिये छाप दी गई है। सब प्रकार की कड़वाहट और प्रकोप और क्रोध, और कलह, और निन्दा, सब बैरभाव समेत तुम से दूर की जाए। एक दूसरे पर कृपालु और करुणामय हो, और जैसे परमेश्वर ने मसीह में तुम्हारे अपराध क्षमा किए वैसे ही तुम भी एक दूसरे के अपराध क्षमा करो। इफ 4:29-32

बाइबल बैरभाव को दूर फेंकने और अच्छे शब्द बोलने पर जोर देती है। परमेश्वर ने हमें, जिन्होंने अनगिनत पाप किए, बिना किसी मूल्य के क्षमा किया है। अपना जीवन जीते हुए, कभी-कभी हम क्रोधित होते हैं। लेकिन, हमें जल्दी से दयालु और अच्छे परमेश्वर के सदृश्य होकर, अपने क्रोध को दूर करना चाहिए। हमें परमेश्वर की इच्छा का पालन करना चाहिए, जो चाहते हैं कि हम फिर से पाप न करें, और अच्छे और अनुग्रहपूर्ण शब्द बोलें जो दूसरों की उन्नति के लिए उत्तम हो।

2. हमें अनुग्रहपूर्ण शब्द बोलने चाहिए

अवसर को बहुमूल्य समझकर बाहरवालों के साथ बुद्धिमानी से व्यवहार करो। तुम्हारा वचन सदा अनुग्रह सहित और सलोना हो कि तुम्हें हर मनुष्य को उचित रीति से उत्तर देना आ जाए। कुल 4:5-6

जिस तरह हम भोजन का स्वाद अच्छा बनाने के लिए उचित मात्रा में नमक छिड़कते हैं, वैसे ही हमें अपने आसपास के लोगों के साथ सामंजस्यपूर्ण संबंध बनाए रखने के लिए और परमेश्वर की बाहों में उनकी अगुवाई करने के लिए अनुग्रहपूर्ण और समझदार शब्द बोलने चाहिए। कभी-कभी, हम देखते हैं कि किसी व्यक्ति के अपने बारे में अत्यधिक बड़ाई करने और दूसरों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले शब्दों के कारण झगड़ा होता है। यह समस्या तब उत्पन्न होती है जब हम बिना सोचे समझे शब्द बोलते हैं। दूसरों के प्रति विचारशील होकर, हमें आत्माओं को अनुग्रहपूर्ण और समझदार शब्दों से बचाना चाहिए और परमेश्वर को महिमा देनी चाहिए।

पुनर्विचार के लिए प्रश्न
1. क्यों हमें बैरभाव को दूर करके अच्छे शब्द बोलने चाहिए?
2. आइए हम उस अनुभव को याद करें कि हमने अनुग्रहपूर्ण और समझदार शब्द सुने थे।
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS