WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

माता-पिता की चिंता

चेल्याबिंस्क, रूस से कांग यो ना

509 देखे जाने की संख्या
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

मैं अपने घर से दूर रूस में रहती हूं। चूंकि मैं अपने माता-पिता से अक्सर नहीं मिल सकती, तो मैं उन्हें यह दिखाने के लिए खुद की तस्वीरें भेजती हूं कि मैं कैसे रह रही हूं।

यह तब की बात थी, जब पिछली सर्दियों में पहली बार ओले गिरे थे। ओलों की बौछार बहुत अद्भुत दिखी। मैंने अपने हाथों में ओलों को पकड़ने की एक तस्वीर खींची और उसे अपने माता-पिता को भेजा। उन्होंने मुझे ओलों के बारे में पूछा और यह भी कि यह मेरे लिए ज्यादा ठंडा तो नहीं है। मैंने उन्हें बताया कि मैं ठीक और स्वस्थ हूं। हम हमेशा की तरह एक-दूसरे का हालचाल पूछते हुए साधारण बातचीत की।

कुछ दिनों बाद, मेरी मां ने मुझे फोन किया कि वह मुझे गर्म दस्ताने भेजेगी। मैंने सोचा कि वह ठंडे मौसम के कारण ऐसा कह रही थी, लेकिन यह वह कारण नहीं था। उसने सोचा था कि तस्वीर में मैंने जिन दस्तानों से ओले पकड़े थे वे पुराने हो गए थे, और इसने उनके मन को परेशान कर दिया था। उसने कहा कि बेटी की एक तस्वीर उसकी मां से बहुत कुछ कहती है, और वह हंसी।

इसके कुछ समय बाद, मैंने मोटी जैकेट पहनकर जिसे माता-पिता ने मेरे लिए खरीदा, अपनी तस्वीर खींची और उसे उन्हें भेजी। तुरंत ही, मुझे जवाब मिला कि यह मुझ पर अच्छी लग रही है। लेकिन अगली सुबह, मुझे अपनी मां का एक ईमेल मिला। उसने लिखा कि मेरे पिता ने उसे जल्दी बूट्स खरीदने और उन्हें मेरे पास भेजने के लिए कहा था। इसकी वजह थी कि मैंने स्नीकर्स पहने थे। मैं यह सुनकर चौंक गई कि वह मुझे सर्दियों में गर्मियों के जूते पहने हुए देखकर चिंतित थे। सच कहूं, तो मैंने पास के सुपरमार्केट में जाने के लिए आरामदायक स्नीकर्स पहने थे। यह जानकर कि मेरे माता-पिता मेरी तस्वीरों को खास ध्यान से देखते हैं जो मेरे दैनिक जीवन को दिखाती हैं, मैंने जल्दी से जवाब दिया कि मैं आमतौर पर बूट्स पहनती हूं और इसलिए उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है।

मेरे माता-पिता मेरी तस्वीरों को बहुत ध्यान से देखते हैं कि वे यह जान सकें कि मुझे किस चीज की जरूरत है। उन्होंने मुझे स्वर्गीय माता-पिता की याद दिलाई। मेरे माता-पिता की तरह, जो अपनी बेटी के बारे में चिंता करना बंद नहीं कर सकते, स्वर्गीय पिता और माता अपनी आंखें हमसे नहीं हटाते। वे हमारी कम आवाज और छोटी-छोटी क्रियाओं पर भी ध्यान देते हैं। गहरे और सूक्ष्म प्रेम के लिए, मैं अपने स्वर्गीय माता-पिता और अपने शारीरिक माता-पिता को धन्यवाद देती हूं।