WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

Arise & Shine 2019 अंतरराष्ट्रीय बाइबल सेमिनार

एलोहीम परमेश्वर का अस्तित्व और नई वाचा का मूल्य
पांच देशों के वक्ताओं द्वारा प्रस्तुत किया गया

कोरिया

4 अप्रैल, 2019
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

4 अप्रैल को, जब महासभा पूरे जोरों पर थी, नई यरूशलेम फानग्यो मंदिर में Arise & Shine 2019 अंतरराष्ट्रीय बाइबल सेमिनार का आयोजन किया गया था। ‘लोगों को एलोहीम परमेश्वर और नई वाचा के सत्य को जानने देकर उद्धार में उनकी अगुवाई करें,’ इस उद्देश्य से इसका आयोजन किया गया था। दुनिया भर से पुरोहित कर्मचारी सदस्यों और आसपास के क्षेत्रों से आए सदस्यों ने सेमिनार में भाग लिया, इससे मुख्य आराधना हॉल और सेमिनार कक्ष सहित अतिरिक्त सुविधाएं भी भर गईं।

माता की प्रार्थना से सेमिनार शुरू हुआ; माता ने प्रार्थना की कि सभी सात अरब लोग उद्धार के सत्य को महसूस करें। पांच देश – जर्मनी, अमेरिका, अर्जेंटीना, पेरू और भारत – के आठ वक्ताओं ने बाइबल पर आधारित विभिन्न विषयों को जीव विज्ञान, चिकित्सा विज्ञान, शिक्षाशास्त्र, मानविकी शास्त्र, आधुनिक और समकालीन इतिहास और कला इत्यादि से जोड़कर TED*– स्टाइल में प्रस्तुत किया जैसे कि “आपका मेंटर कौन है?” “वाइट ब्लड, मां के दूध का महत्व,” और “एलोहीम परमेश्वर: सृष्टिकर्ता की अनूठी विशेषता।” सेमिनार में उपस्थित लोगों ने एलोहीम परमेश्वर जो मानव जाति के सृष्टिकर्ता और उद्धारकर्ता हैं, के अस्तित्व और नई वाचा के सत्य के मूल्य की पुष्टि की।

*TED(Technology-प्रौद्योगिकी, Entertainment-मनोरंजन और, Design-डिजाइन) फैलाने के योग्य विचारों पर एक प्रस्तुति है, जिसमें सभी विषयों को शामिल किया जाता है।

वे वक्ताओं के एक समान संदेश से सहमत हुए: “आइए हम जल्दी से सात अरब लोगों को, जो सत्य के लिए प्यासे हैं, उद्धार का शुभ संदेश सुनाएं।”

जापान के ओसाका के मिशनरी हयामी केंसाकू ने कहा, “मुझे स्पष्ट रूप से महसूस हुआ कि हम अपने आसपास की प्रकृति के द्वारा आसानी से परमेश्वर के अस्तित्व का प्रमाण पा सकते हैं। मैं सभी जापानी लोगों को एलोहीम सृष्टिकर्ता और स्वर्ग के राज्य के बारे में प्रचार करने के लिए अपना सर्वोत्तम प्रयास करूंगा।” मलेशिया के कोटा किनाबालु से आए मिशनरी यिम जा रांग ने सुसमाचार के कार्य को और आगे बढ़ाने के लिए अपना संकल्प व्यक्त करते हुए कहा, “धर्म अक्सर संस्कृतियों और परंपराओं की तरह पीढ़ियों से नीचे पारित किया जाता है। एक नबी का मिशन जैसे बाइबल में है, वैसे ही लोगों को सिखाना है, ताकि वे सत्य को समझ सकें और सही धर्म का चुनाव कर सकें।”

माता ने वक्ताओं के लिए तालियां बजाईं और कहा, “आपने 2,000 वर्ष पहले पतरस और यूहन्ना की तरह सत्य की गवाही दी।” माता ने सभी सिय्योन के सदस्यों को आशीष दी, “आइए हम जीवन के वचनों का मेहनत से प्रचार करें और प्रथम चर्च की तुलना में अधिक महान कार्य पूरा करें, जिसने एक दिन में पांच हजार लोगों का उद्धार में नेतृत्व किया।” प्रधान पादरी किम जू चिअल ने यह आशा के साथ सेमिनार का समापन किया कि सेमिनार में उपस्थित लोगों सहित दुनिया भर के पुरोहित कर्मचारी और सदस्य पूरी तरह से सत्य समझकर दृढ़ विश्वास रखें और उद्धार के शुभ संदेश की घोषणा करें।

Global Bible Seminars Go to Website

FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS