WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

15 जून, 2020

सुसमाचार कार्य में असिस्ट

पेनेडो, ब्राजील से इ हे जिन

FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

पेनेडो, ब्राजील के अलगोअस राज्य का एक छोटा सा शहर है। पेनेडो में जिसकी आबादी सत्तर हजार से कम है, बहुत से लोग घर पर समय बिताते हैं क्योंकि नौकरी मिलना मुश्किल है। शायद इसलिए कि उनके पास समय है, जब हम कहते हैं कि हम परमेश्वर के वचन का प्रचार कर रहे हैं, तब वे स्वेच्छा से सुनते हैं, लेकिन इसे आसानी से स्वीकार नहीं करते। सत्य होने के बावजूद, वे अपने चर्च को बदलने के लिए बोझ की भावना महसूस करते हैं जिसमें वे लंबे समय से जाते थे।

जब कुछ महीनों के लिए किसी को भी सिय्योन में अगुवाई किए बिना हम थकने वाले थे, तो हमने नई यरूशलेम प्रचार समारोह के बारे में सुना। भले ही मेरे पति और मैं ही एकमात्र सदस्य थे, लेकिन हमने समारोह का आनंद लेने का फैसला किया और एक नए संकल्प के साथ प्रचार करना शुरू किया।

एक दिन, हम एक ऐसे व्यक्ति से मिले, जिसे चर्च पसंद नहीं था। उसने अपने मन में बैठी हुई सभी शिकायतों को बाहर निकाला। थोड़ी देर तक उसकी बात सुनने के बाद, हमने पूछा, “क्या हम आपको सत्य के बारे में बता सकते हैं? यदि आपको कोई दिलचस्पी नहीं है, तो हम चले जाएंगे।” कुछ हिचकिचाहट के बाद, उसने हमें उसे परमेश्वर का वचन बताने की अनुमति दी। हमने तुरंत बाइबल खोली और माता परमेश्वर के बारे में गवाही दी। उसकी मां ने, जो हमें देख रही थी, दरवाजे के पीछे थम्स अप का इशारा किया। वह संतुष्ट लग रही थी कि उसका बेटा जो चर्च से नफरत करता है, उसने परमेश्वर के वचन को सुना।

दरअसल, उसे उस चर्च के बारे में कई शिकायतें थीं, जिसमें उसकी मां जाया करती थी। उसका मन घूम गया था क्योंकि उसकी मां ने अपने सारे प्रयास चर्च में लगा दिए थे। उसके लिए अपना मन बदलना मुश्किल लग रहा था, और उसकी बूढ़ी मां के लिए भी सत्य को स्वीकार करना मुश्किल लग रहा था क्योंकि वह लंबे समय से चर्च जाती थी। इसलिए, हमने बाइबल को बंद कर दिया।

कुछ दिनों के बाद, मैंने एक घर के दरवाजे पर दस्तक दी, जो उस व्यक्ति के घर के विपरीत दिशा में था जो हमें मिला था। हमें आश्चर्य हुआ, उसकी मां ने दरवाजा खोला। हमें नहीं पता था कि उस घर के दो दरवाजे थे। उसने हमारा स्वागत किया। हमने सोचा कि यह परमेश्वर का प्रयोजन है, और उसे माता परमेश्वर के बारे में सुनाया।

“यदि पिता है, तो माता भी होनी चाहिए!”

उसने जवाब दिया और बाइबल का गंभीरता से अध्ययन किया। उसके पास बहुत सारे सवाल थे। ऐसा लग रहा था कि वह लंबे समय से जीवन के जल की तलाश में थी।

उसने कहा कि वह बीस साल से उस चर्च में चलकर जाती थी जो उसके घर से बहुत दूर है। हाल ही में, वह चर्च नहीं जा सकी क्योंकि उसके पैर में चोट लगी थी, लेकिन इस बीच, कोई भी उससे मुलाकात करने नहीं आया या किसी ने भी नहीं पूछा कि वह कैसी है। उसने परमेश्वर से प्रार्थना की कि वह उसके घर में कुछ स्वर्गदूतों को भेजें। तब, वह हमसे मिली और उद्धार का समाचार सुना।

एक सप्ताह के बाद, वह स्वर्गीय परिवार की एक सदस्य बन गई। वह परमेश्वर की सच्ची संतान बनने के लिए इतनी खुश थी कि वह एक दिन पहले सो भी नहीं सकी। यह कहते हुए, “मैं वास्तव में बहुत खुश हूं। यह सब पिता और माता का अनुग्रह है,” वह अपनी हंसी को रोक नहीं पाई। अब वह कहती है कि उसके पैर में कोई दर्द नहीं है, और आराधना के दिन पर आराधना की तैयारी के लिए जल्दी से सिय्योन में आती है।

उसने यह कहते हुए अपने परिचितों का हमसे परिचय कराया, “जैसे स्वर्गीय पिता और माता ने मेरी आंखें खोलीं, वैसे ही वे दूसरों की आंखें भी खोल देंगे।” उसके लिए धन्यवाद, हम उनका दौरा करने में व्यस्त हो गए। भले ही उसकी उम्र के दोस्तों ने तुरन्त सत्य को स्वीकार नहीं किया है, लेकिन वे कहते हैं कि चर्च ऑफ गॉड अच्छा है, और हमें उनके परिवार के सदस्यों से मिलवाते हैं।

एक खेल में स्ट्राइकर को एक गोल मारने में मदद करने को असिस्ट(assist) कहा जाता है। चूंकि एक असिस्ट गोल करने में निर्णायक होती है, तो जो खिलाड़ी को असिस्ट करता है उसकी उस खिलाड़ी की तुलना में काफी सराहना की जाती है जो वास्तव में गोल करता है। चूंकि बूढ़ी बहन और अन्य आत्मिक असिस्ट, सुसमाचार के काम में मदद करते हैं, जिसका नेतृत्व परमेश्वर द्वारा किया जाता है, सुसमाचार तेजी से पूरे पेनेडो में प्रचार किया जा रहा है।

हमें नई यरूशलेम प्रचार समारोह के द्वारा एक नया मन रखने और उपहार के रूप में बहुमूल्य फल उत्पन्न करने की अनुमति देने के लिए मैं स्वर्गीय पिता और माता को धन्यवाद देती हूं। आगे भी हम परमेश्वर की शक्ति और मदद से उत्साह के साथ सुसमाचार का प्रचार करेंगे। हमें आशा है कि हम उस मिशन को जल्दी पूरा करें जो परमेश्वर ने हमें पेनेडो में सौंपा है।

FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS