WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

विश्वविद्यालय छात्रों के लिए
2019 वैश्विक लीडरशिप सम्मेलन

भावी वैश्विक नेता जो परमेश्वर के इच्छानुसार दुनिया का नेतृत्व करेंगे

कोरिया

10 जुलाई, 2019
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

विश्वविद्यालय के उन छात्रों के लिए जो ईसाई और विद्वान के रूप कैंपस के अंदर और बाहर सीखने में स्वयं को समर्पित करते हैं, एक विशेष समारोह का आयोजन किया गया। वह था विश्वविद्यालय छात्रों के लिए 2019 वैश्विक लीडरशिप सम्मेलन जिसे चर्च ऑफ गॉड ने भावी वैश्विक नेताओं को प्रगतिशील और रचनात्मक विजन प्रदान करने के लिए आयोजित किया था।

छुट्टियों के दौरान आजोजित हुए सम्मेलन में, अमेरिका, जर्मनी, पेरू, भारत, और दक्षिण अफ्रीका जैसे 41 देशों के 207 विश्वविद्यालयों और कोरिया के 228 विश्वविद्यालयों से कूल 532 छात्र सम्मिलित हुए। उन्होंने राष्‍ट्रीय सीमा से परे भाईचारे के प्रेम का साझा किया, और भावी नेताओं के रूप में कार्यनिर्वाह-क्षमता को विकसित किया।

बाइबल के जरिए लिडरशिप के बारे में सीखना

माता ने प्रार्थना की कि विश्वविद्यालय के छात्र, जो अपने युवावस्था में परमेश्वर की शिक्षाओं को प्राप्त करके उनकी इच्छा पर चलना चाहते हैं, पवित्र आत्मा की असीम आशीष प्राप्त करें। माता ने यह इच्छा जताई कि वे भविष्यवाणियों के नायकों के रूप में दृढ़ विश्वास और उत्साह के साथ सुसमाचार के कार्य और पढ़ाई करने का प्रयत्न करें। माता ने यह कहते हुए कि “आप एक नई प्रेरितों के काम की पुस्तक लिख रहे हैं,” उनकी सराहना की जो कैंपस में अच्छे कार्य और ईश्वरीय आचरण के जरिए आत्माओं को बचाने के लिए प्रयास कर रहे हैं, और पूरे कार्यक्रम के दौरान उन गुणों के बारे में विस्तार में समझाया जिनकी उन्हें आवश्यकता है। माता ने कहा कि “पिता ने कहा, ‘बड़ी सफलता युवावस्था में शुरू होती है। अभ्यास करना सफलता की कुंजी है।’ पिता के इन वचनों के प्रति आज्ञाकारी होकर सभी युवाओं को परमेश्वर की इच्छा को अमल में ले आना चाहिए।” और उन्होंने उनसे दयालु सामरी का मन रखने का आग्रह किया, जिसने डाकुओं के हाथ में पड़े हुए व्यक्ति को बचाया था।

सच्चे नेताओं में केवल बाइबल और अपने मुख्य विषयों का ज्ञान ही नहीं, बल्कि दूसरों पर दया करने का गुण अर्थात् मसीह की तरह प्रेम और बलिदान करने का मन होना चाहिए, जिन्होंने मानव जाति को बचाने के लिए अत्यधिक दर्द सहा। माता ने उन्हें बार-बार आशीष दी कि वे ऐसे नेता बनें जो संसार के नमक और ज्योति की भूमिका निभाएंगे। माता ने कहा, “हमने दूसरों से पहले उद्धार की आशीष पाई है। आइए हम जिम्मेदारी की भावना के साथ हर प्रकार की आपदाओं, आर्थिक कठिनाइयों, युद्धों, जलवायु परिवर्तन आदि के भय में जी रहे लोगों तक नई वाचा का संदेश मेहनत से पहुंचाएं(कुल 3:1; सभ 2:7-11; कुल 2:2; रो 8:16)।”

प्रधान पादरी किम जू चिअल ने भी विशेष व्याख्यान और विजन प्रस्तुतियों जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से उनमें इस युग के मिशन को जागृत किया और उन्हें लगातार प्रोत्साहित किया। प्रधान पादरी किम जू चिअल ने कहा, “जब हम चर्च ऑफ गॉड जहां पौलुस, पतरस, और यूहन्ना जैसे प्रेरित जाते थे, के सदस्य के रूप में गर्व महसूस करते हैं और परमेश्वर की आज्ञाएं मानते हैं तब हमारे सामने आशीषित भविष्य आएगा जिसकी परमेश्वर ने तैयारी की। परमेश्वर के वचन में, जिन्होंने शून्यता में से किसी चीज की सृष्टि की, न केवल आपके बल्कि दूसरे बहुतों के भविष्य को भी बदलने की सामर्थ्य है। आइए हम हमेशा परमेश्वर के वचन की सामर्थ्य पर निर्भर करते हुए मानवजाति का सही मार्ग पर मार्गदर्शन करें और उन्हें बचाएं।”

संचार और विचारों के आदान-प्रदान के माध्यम से दृष्टिकोण को व्यापक बनाना

इस सम्मेलन में ऐसे कार्यक्रम थे जिनमें विश्वविद्यालय छात्रों ने खुद ही कार्यक्रमों का संचालन किया और एक दूसरे से संवाद किया। छात्रों ने Arise & Shine अंतरराष्ट्रीय बाइबल सेमिनार में हजारों लोगों के समक्ष उन विषयों पर प्रस्तुतियां दीं जिसे उन्होंने स्वयं चुने थे, और विभिन्न देशों के छात्रों के साथ सुसमाचार और स्वयंसेवा की खबर का साझा किया। उन्होंने अपने ज्ञान और गतिविधियों के आधार पर कार्यसूची प्रस्तुत करने और निर्णय लेने से लीडरशिप को विकसित किया। उन्होंने सहयोग और एकजुटता के महत्व का भी एहसास किया। विभिन्न देशों से आए विश्वविद्यालय छात्रों ने कार्यक्रमों में भाग लेते हुए बहुमूल्य अनुभव प्राप्त किया। भाई ली यंग बिन (सियोल राष्ट्रीय विश्वविद्यालय छात्र) ने कहा, “पूरी दुनिया के विश्वविद्यालय छात्रों के साथ, जिनके पास अलग-अलग सोचने के तरीके हैं, बातचीत करते हुए मैं अपने दृष्टिकोण को व्यापक करने में सक्षम हुआ। मैंने यह भी सीखा कि जब हम एक उद्देश्य रखकर एक मन हो जाते हैं तो ऐसी बहुत सी चीजें हैं जो हम छात्रों के रूप में भी दूसरों और समाज के लिए कर सकते हैं।”

अपने कार्यक्रम के आखिरी दिन, उन्होंने कोरिया की राष्ट्रीय संसद भवन जहां राष्ट्रीय मामलों पर चर्चा की जाती है और सरकारी मेमोरियल हॉल का दौर किया, जहां राष्ट्रीय संसद की प्रणाली और कार्य की जानकारी को प्रदर्शित किया जाता है। उन्होंने विश्वविद्यालयों का भी दौरा किया और कोरिया के गियॉन्गी प्रांत के ग्वांगजू में स्थित हनोक गांव में पारंपरिक पंखे, चाय, और हनबोक (पारंपरिक कोरियाई पोशाक) जैसी कोरियाई संस्कृति की सुंदरता का अनुभव किया। अमेरिका के जॉर्जिया स्टेट विश्वविद्यालय से आए भाई एंथोनी डेवी ने कहा, “मैंने यह सीखा कि पैतृक पीढ़ियों के बलिदान के कारण कोरिया तीव्रता से चमकदार विकास हासिल करने में सक्षम हुआ और यहां विश्वविद्यालय की उत्कृष्ट संस्कृतियां और प्रणालियां हैं। मैंने अगली पीढ़ी के लिए वैसा ही करने की जिम्मेदारी की भावना को महसूस किया।”

प्रतिभागियों ने कहा, “हम अपने कैंपस के जीवन को केवल नौकरी पाने या सफलता हासिल करने की प्रक्रिया के रूप में नहीं, बल्कि एक सार्थक समय के रूप में मानेंगे जब हम मित्रों, पड़ोसियों और समाजों की सहायता करते हुए अपने भीतर का विकास कर सकते हैं।” विश्वविद्यालय छात्रों के लिए 2019 वैश्विक लीडरशिप सम्मेलन इस प्रकार के संकल्प के साथ समाप्त हुआ। विश्वविद्यालय छात्रों ने अपने ज्ञान को अभ्यास में लगाने की उर्जा, नम्रता, लिहाज, समर्पण और एकता और साथ ही व्यापक दृष्टिकोण और लीडरशिप का गुण भी जो दुनिया का आलिंगन कर सकता है प्राप्त किया। हमें उनसे बहुत उम्मीदें हैं जो अपनी प्रतिभाओं और गुणों के साथ ‘कल’ नामक भविष्य का निर्माण करेंगे।

2019 पूरी दुनिया में कैंपस मिशन विजन की प्रस्तुति

14 जुलाई को, ओकछन गो एन्ड कम प्रशिक्षण संस्थान में 2019 विश्वव्यापी कैंपस मिशन विजन की प्रस्तुति का आयोजन किया गया और 10,000 से अधिक विश्वविद्यालय छात्रों और हाई स्कूल के छात्रों ने भाग लिया जो अपने कैरियर के चुनाव को लेकर चिंतित हैं। सियोल राष्ट्रीय विश्वविद्यालय, हार्वर्ड विश्वविद्यालय, सिगांपुर राष्ट्रीय विश्वविद्यालय आदि के छात्रों ने अपने विद्यालयों का परिचय दिया और लक्ष्य बताया। कुछ छात्रों ने कैंपस मिशन की गतिविधियों को विनोदपूर्ण ढंग से समझाने के लिए एंकर और रिपोर्टर के रूप में भूमिका निभाई।

भाई तान चोंग ली ने, जो सिंगापुर राष्ट्रीय विश्वविद्यालय में अध्ययन कर रहा है, कहा “जिसके पास सपना है वह व्यक्ति अपने सपने को साकार करने के लिए बहुत प्रयास करता है। हमारे परमेश्वर ने हमें सुसमाचार का स्पष्ट विजन प्रदान किया है। आइए हम कभी भी निराश न हो जाएं पर हौसला रखें!”

कैंपस मिशन के सक्रियता के लिए विश्वविद्यालय छात्रों का अंतरराष्ट्रीय फोरम

सम्मेलन के दूसरे दिन(11 जुलाई) की शाम को विश्वविद्यालय छात्र अपने कैंपस मिशन के मामलों का साझा करने के लिए जिनका परमेश्वर नेतृत्व करता है, नई यरूशलेम फानग्यो मंदिर के सेमिनार कक्ष में इकट्ठे हुए।

फिलीपींस और भारत से आए छात्रों ने प्रस्तुतियां दीं, और जर्मनी, अमेरिका, युक्रेन और बोत्सवाना से आए छात्रों ने पैनल चर्चा में भाग लिया। कैंपस क्लबों की प्रस्तुतियों ने उपस्थित लोगों का ध्यान आकर्षित किया। चर्च ऑफ गॉड के विश्वविद्यालय के छात्र धर्म, आकादमिक या स्वयंसेवा से संबंधित विभिन्न क्लबों को स्थापित करते हुए बाइबल सेमिनार, कैंपस सफाई अभियान और मानवाधिकार अभियान जैसी विविध गतिविधियों का संचालन करते हैं। अर्जिनटिना के कॉर्डोबा राष्ट्रीय विश्वविद्यालय से आए भाई फर्नांडो बेनिटेज ने यह कहते हुए कि “जब मैं हर सुबह व्याख्यान कक्ष में भाई-बहनों के साथ परमेश्वर के वचन का अध्ययन और प्रार्थना करता हूं, तब स्वभाविक रूप से मुझे एहसास होता है कि मुझे किस तरह से दिन बिताना चाहिए” क्लब की गतिविधियों में हिस्सा लेने के फायदों का वर्णन किया।

FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS