WATV.org is provided in English. Would you like to change to English?

खुश परिवार पर वैश्विक सम्मेलन

माता का प्रेम, खुश परिवार की कुंजी

कोरिया

6 अप्रैल, 2019
FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS

6 अप्रैल को फानग्यो नई यरूशलेम मंदिर के सेमिनार कक्ष में खुश परिवार पर वैश्विक सम्मेलन का आयोजन किया गया था। चर्च के सदस्यों और नागरिकों को खुशहाल पारिवारिक जीवन जीने में मदद करने के लिए दुनिया भर से पुरोहित कर्मचारी सदस्य इकट्ठे हुए। प्रधान पादरी किम जू चिअल ने सम्मेलन के अध्यक्ष के रूप में नेतृत्व किया, और ब्रिटेन, अमेरिका, इक्वाडोर, भारत और पेरू के पैनल ने अपनी संस्कृतियों में अपने अनुभव और उदाहरण का साझा किया।

“जब एक परिवार, सामाजिक संरचना का एक प्रमुख तत्व, खुश हो जाता है, तो समाज और देश भी खुश हो जाते हैं। परिवार के सदस्यों के बीच छोटी और बड़ी गलतफहमी और मतभेद को कम करने के लिए, हमें एक दूसरे के अंतर को समझना चाहिए और हमारी प्रत्येक भूमिका का सम्मान करना चाहिए।” रिजवुड, एनजे, अमेरिका से जॉन पावर

“बच्चे घर पर परवाह, सहनशीलता और जीवन का अर्थ सीखते हैं। आधुनिक समाज में परिवार की भूमिका अभी भी महत्वपूर्ण है, जहां व्यस्त काम, अध्ययन और व्यक्तिगत शौक के कारण पारिवारिक रिश्ते पहले जैसे नहीं हैं।” कैलाओ, पेरू से गेराल्डो इमानुएल डायज फिएस्टास

“एस्मेराल्डास चर्च में, जहां का मैं हूं, सदस्य सब्त की तैयारी में मासिक खुश परिवार का सबसे अच्छा उपयोग करते हैं। यह पारिवारिक प्रेम का अभ्यास करने के लिए एक बड़ी मदद है।” एस्मेराल्डास, इक्वाडोर से एलियास सैसीडो

“भारतीय समाज में जहां पितृसत्तात्मक माहौल बना हुआ है, हमारे चर्च ऑफ गॉड के पुरुष विवाहित सदस्य अच्छे उदाहरण दिखाते हैं। बहुत से लोग यह देखकर चकित हो जाते हैं कि चर्च और घर दोनों जगहों पर वे छोटे और बड़े मामलों में कितनी विनम्रता से पेश आते हैं और भोजन भी तैयार करते हैं।” नई दिल्ली, भारत से जॉन शाह

पैनलिस्टों की सामान्य राय प्रेम थी। उन्होंने कहा कि जब सभी परिवार के सदस्य माता के जो सबसे नीचले स्थान पर अपने परिवार के लिए खुदको समर्पित करती है और सभी सदस्यों की देखभाल करती है, प्रेम के गुणों को सीखते हैं और जब वे उन बातों को अभ्यास में लाते हैं, तब वे एक परिवार के बंधन को मजबूत बना सकते हैं । “आंकड़े बताते हैं कि ब्रिटेन में 42% विवाहित जोड़े तलाक लेते हैं।” लंडन, ब्रिटेन से मिशनरी अलेक्जेंडर लॉरेंस टोबी होम्स ने कहा, “एक पुरोहित कर्मचारी सदस्य के रूप में, मैं उन लोगों को जो परिवार के सदस्यों से जूझ रहे हैं, परमेश्वर की शिक्षा, ‘प्रेम धीरजवन्त है, प्रेम डाह नहीं करता, और यह फूलता नहीं लेकिन दयालु है,’ के द्वारा संघर्षों को सुलझाने और घरेलू शांति पाने में मदद करूंगा।”

FacebookTwitterEmailLineKakaoSMS